नर्सिंग स्टाफ की घर में देर रात गला रेतकर हत्या, पुलिस को करीबी पर शक

हाल ही में राजस्थान के सीकर नर्सिंग स्टाफ रामजी लाल कुमावत (37) की बेहरहमी से हत्या न्यू उस्मानपुर के जगप्रवेश चंद्र अस्पताल परिसर में हुई है। समाचारों के अनुसार, मंगलवार सुबह पत्नी उठी तो बाथरूम के सामने पति को खून से लथपथ पाया गया था।

उसके गले पर गहरे कट का निशान था। तुरंत उसके पति को अस्पताल की इमरजेंसी में ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। वारदातस्थल पर पहुंची पुलिस को शव के पास ही वारदात में इस्तेमाल किया गया चाकू मिला। साथ ही इसमें संदेह व्यक्त किया जा रहा है कि रामजी की हत्या में किसी निकट व्यक्ति का हाथ हो सकता है। इसके बाद पुलिस अब मामले को कई तरीकों से जांच कर रही है। पुलिस रामजी लाल की पत्नी सुधा कुमावत के अलावा अन्य परिजनों से पूछताछ कर रही है और आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है।

साथ ही, पुलिस उपायुक्त डॉ. जॉय टिर्की ने बताया कि सीकर निवासी रामजी लाल कुमावत जगप्रवेश चंद्र अस्पताल में नर्स थे और अस्पताल परिसर के क्वार्टर नंबर 10, दूसरी मंजिल पर रहते थे, जब घटना हुई। उनकी पत्नी सुधा कुमावत के अलावा उनके परिवार में ग्यारह और आठ साल के दो बच्चे हैं। रामजी लाल और सुधा की शादी लगभग 12 साल पहले हुई थी. सुधा 2016 से सीलमपुर में एक स्कूल में अतिथि शिक्षिका हैं और परिवार कुछ दिनों से शादी में शामिल होने के लिए राजस्थान गया था।

यद्यपि, परिवार सोमवार देर रात 12:30 बजे दिल्ली पहुंचा था और दोनों ने बच्चों को कमरे में सुला दिया. फिर, लगभग एक घंटे तक दोनों ने बैठकर बातचीत की, फिर सुधा सोकर उठी और बाथरूम के सामने अपने पति को खून से लथपथ देखा। पति को अस्पताल ले जाने पर मृत घोषित किया गया।

more news – युवक को थाने से कुछ दूर चाकू से मारकर मार डाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *